WELCOME TO PDR NEWS SONBHADRA

– ताजा ख़बरों के लिए गूगल प्ले स्टोर से PDR News Sonbhadra सर्च करके उसे फ्री में डाउनलोड करे 

– हमारी वेबसाइट विजिट करने के लिए धन्यवाद !!!

– अधिक जानकारी के लिए हमे सम्पर्क करे : +918318262676

जीडीसीएल कंपनी में रेलवे दोहरीकरण में कार्य कर रहे 16 वर्षीय नाबालिक हुई मौत

बीती रात्रि जीडीसीएल के गेट पर मृतक का शव लाकर ग्राम प्रधान व ग्रामीणों ने जमकर किया हंगामा

(पीडीआर ग्रुप)

दुद्धी /सोनभद्र |दुद्धी कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम कटौन्धी में रेलवे दोहरीकरण कंपनी जीडीसीएल कंपनी में कार्यरत नाबालिक बालक की हाई वोल्टेज करंट लगने से इलाज के दौरान मौत हो गयी ,घटना से आक्रोशित परिजनों ने कल शनिवार की रात्रि कटौन्धी स्थित  कंपनी के कैंप कार्यालय पर शव रखकर जमकर बवाल काटा और उचित मुआवजे की मांग की और संबंधित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की | लेकिन पुलिस 50 हजार की राशि की आर्थिक मदद दिलवाकर परिजनों को वहां से हटाया |
   2 दिन पूर्व  रेलवे दोहरीकरण के ठेकेदार के द्वारा रेलवे गेज नापने का काम नाबालिक से कराया जा रहा था कि 16 वर्षीय  नंदकुमार पुत्र तुलसी राम ग्राम कटौली रेलवे के  हाई वोल्टेज करंट की चपेट में आगया,जिससे करंट लगने से 2 दिन बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई, जिसका इलाज वाराणसी के निजी अस्पताल में कराया जा रहा था |कि 29 अक्टूबर को रात्रि 8:00 बजे बालक ने वाराणसी में दम तोड़ दिया था मृतक के शव को वहां के प्रशासन के द्वारा वहीं पीएम करवाया गया| जिसके बाद परिजनों ने शव को वाराणसी से दुद्धी के कटौन्धी गेट स्थित जेडीसीएल करदाई संस्था के मुख्य गेट पर एम्बुलेंस से लेकर पहुँचे व ग्रामीणों के साथ  संबंधित के खिलाफ कार्रवाई व संस्था के अधिकारियों से मृतक बालक के मुआवजे की मांग की और मुख्य गेट पर ग्राम प्रधान सहित कई दर्जन ग्रामीण घंटे भर हंगामा कर डटे रहें ,दुद्धी कोतवाली के एसआई जय प्रकाश शर्मा के द्वारा समझाने बुझाने पर मृतक के माता पिता को ₹40000 रुपये कंपनी के द्वारा दिया गया  जिससे ग्रामीण व ग्राम प्रधान सहित परिजन नाराज हो गए और उचित मुआवजे की मांग करने लगे ,एक बार फिर मान मनौवल का दौरा चला और काफी समझाने बुझाने पर ग्राम प्रधान कटौली शोभनाथ मरकाम एवं ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कटौली प्रकाश चंद भारती व स्थानीय प्रशासन के द्वारा मृतक बालक के पिता को ₹50000 रुपए लिफाफे में दिया गया एवं अग्रिम कार्यवाही करने हेतु व यथासंभव सहयोग करने को कंपनी से आए हुए अधिकारियों के द्वारा कहां गया तब जाकर मामला शांत हुआ और मृतक बालक का सामने घर की ओर परिजन चले गए|  वही ग्रामीणों ने बताया कि कुछ लोग मृतक के माता-पिता को गुमराह कर अपनी रोटी सेकने के चक्कर में लगे हुए थे जो शायद कामयाब हो गए जिससे पीड़ित पक्ष का फायदा दूसरे लोगों ने उठा लिया|

deepak jaiswal

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x