छात्रों की उपस्थिति संतोषजनक नहीं पाने पर भड़के सीडीओ ,एबीएसए समेत कई शिक्षकों का वेतन रोकने की हुई कार्रवाई

(पीडीआर ग्रुप)

दुद्धी / सोनभद्र| आज सीडीओ डॉ अमित पाल शर्मा ने दुद्धी ब्लॉक क्षेत्र का दौरा किया , निरीक्षण के दौरान शिक्षा क्षेत्र दुद्धी के उच्च प्राथमिक विद्यालय, बोलताकरम(बघाडू)-निरीक्षण के दौरान जूनियर हाईस्कूल में पंजीकृत 125 के सापेक्ष 30 तथा प्राथमिक विद्यालय में 203 के सापेक्ष 31 छात्र उपस्थित मिले पंजीकृत छात्रों के सापेक्ष उपस्थिति का प्रतिशत काफी कम पाये जाने पर खंड शिक्षा अधिकारी आलोक कुमार सहित समस्त अध्यापकों, शिक्षामित्रों तथा अनुदेशकों का वेतन/ मानदेय अग्रिम आदेश तक अवरूद्ध करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देेशित किया गया कि बिना मेरी अनुमति के वेतन भुगतान की कार्यवाही न करें। उन्होंने निर्देशित किया कि विद्यालय में छात्रों की उपस्थिति 80 प्रतिशत से अधिक होने के पश्चात ही वेतन भुगतान की अनुमति दी जायेगी।

इसके अतिरिक्त आलोक यादव, खण्ड शिक्षा अधिकारी, दुद्धी द्वारा छात्रों की उपस्थिति बढ़ाने में कोई रूचि न लिए जाने, अपने दायित्वों के निवर्हन में शिथिलता बरते आदि के दृष्टिगत जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि आलोक कुमार को कारण बताओ नोटिस निर्गत कर उसकी प्रति अधोहस्ताक्षरी को दो दिवस के भीतर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

इनपर हुई कार्रवाई

आलोक कुमार, खण्ड शिक्षा अधिकारी दुद्धी, रामअचल प्रभारी प्रधानाध्यापक, उच्च प्राथमिक विद्यालय, सर्वेश कुमार अनुदेशक, उच्च प्राथमिक विद्यालय बोलताक़रम तथा प्रवीण कुमार, प्रधानाध्यापक, रामप्रवेश सहायक अध्यापक कमलनरायन सहायक अध्यापक, विनय कुमार शिक्षामित्र, रामप्रसादशिक्षामित्र, प्राथमिक विद्यालय बोलताक़रम ,
निरीक्षण के समय उपस्थित खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि विद्यालय परिसर का सुन्दरीकरण मनरेगा के अन्तर्गत कराना सुनिश्चित करें। इस विद्यालय में शौचालय एवं मल्टी हैण्डवाश सिस्टम बना है, परन्तु इसका नल चालू नहीं है जिसको सुचारू रूप से चालू करवाएं|
वहीं चाॅदनी गुप्ता, ग्राम विकास अधिकारी(महिला) बघाडू, निरीक्षण के समय उपस्थित थी, परन्तु उनके द्वारा इस विद्यालय में रेन वाटर हार्वेस्टिंग के अन्तर्गत कोई कार्य नहीं कराया गया है, जबकि समस्त विद्यालयों, पंचायत भवनों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, मुख्यमंत्री आवास एवं प्रधानमंत्री आवासों में मनरेगा के अन्तर्गत रेन वाटर हार्वेस्टिंग का कार्य प्राथमिकता पर कराया जाना है, परन्तु श्रीमती गुप्ता द्वारा कहीं कोई कार्य नहीं कराया जा रहा है और न ही कार्य कराये जाने के संबंध में कोई विवरण प्रस्तुत किया गया। खण्ड विकास अधिकारी एवं उपायुक्त मनरेगा द्वारा भी इनकी शिथिल कार्यप्रणाली के संबंध में अवगत कराया गया है। अतएव उपरोक्त के दृष्टिगत चाॅदनी गुप्ता का वेतन अग्रिम आदेश तक अवरूद्ध करते हुए उनके विरूद्ध आरोप पत्र गठित करते हुए विभागीय कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया गया।
इसी क्रम में आंगनबाड़ी केन्द्र बाघाडू-पांच(औराडंडी)-इस आंगनबाड़ी केन्द्र पर निरीक्षण के समय निली विश्वास आंगनबाड़ी कार्यकत्र्री, श्रीमती सुधा अंजूला, मुख्य सेविका, शराजमति सहायिका तथा शैलाश राम, बाल विकास परियोजना अधिकारी उपस्थित थे। पंजीकृत 67 बच्चों के सापेक्ष 32 बच्चे निरीक्षण के समय उपस्थित थे। प्रतिदिन की गतिविधियां लिखिने हेतु डायरी बनायी गयी है तथा केन्द्र पर लम्बाई नापने एवं वजन हेतु मशीन उपलब्ध है। कोई सेम बच्चा नहीं है। सेम बच्चा 02 तथा नाटे बच्चे 02 हैं। आंगनबाड़ी कार्यकत्र्री द्वारा अभिलेखों का रख-रखाव अच्छी तरह से किया गया था जिस पर सीडीओ ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को उक्त आंगनबाड़ी कार्यकत्र्री को प्रशस्ति पत्र देना सुनिश्चित करें।निरीक्षण के दौरान शेषनाथ चैहान उपायुक्त श्रम रोजगार, अरूण जौहरी उपायुक्त स्वतः रोजगार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारी दुद्धी उपस्थित थे।

deepak jaiswal

Related Posts

Read also x