PDR News Sonbhadra

हर खबर की सच्चाईं आप तक

पांगन नदी में अवैध खनन की जांच की मांग को लेकर यूपी,छत्तीसगढ़ मुख्य सचिव को पत्र

शमशान घाट के बाद गुल्लर घाट पर हो रहा है बालू खनन की जांच को बने समिति

डंपिंग का लाइसेंस ले स्थानीय नदी पांगन से खनन कर डंप किया गया हजारों घनमीटर बालू

(पीडीआर ग्रुप)
सोनभद्र|जिले के छत्तीसगढ़ और यूपी को जोड़ने वाली मोछ दायनी और जीवन दायनी पांगन नदी में अबैध खनन कर नदी के मूल धारा को बाधित करने और जलीय जीवों के अस्तित्व मिटाने का आरोप लगाते हुए एन जी टी में प्रदूषण के खिलाफ आवाज उठाने वाले जाने मॉने पर्यावरण कार्यकर्ता जगत नारायण विश्वकर्मा ने छत्तीसगढ़ और यूपी के मुख्य सचिव को ईमेल के जरिये मंगलवार को पत्र भेज कर उच्च स्तरीय टीम गठित कर खनन की जांच कर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करते हुए मांग की है कि अब तक शमशान घाट ,कुशमहरा घाट में लाखों रुपये कीमत का बालू खनन कर बेचने और खनन करने वालो को सरक्षण देने वाले जिमेदार अधिकारियों को दंडित कर ने के साथ वर्तमान में गुल्लर घाट में स्थानीय अधिकारियों कर्मचारियों की मिली भगत से हो रहे खनन पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है। श्री विश्वकर्मा ने कहा है कि यूपी के हिस्से का बालू खनन कर खनन कर्ताओ ने लाखों रुपये का राजस्व का नुकसान किया है इस मामले में जो भी जिमेदार पाये जाए उनके बेतन से नुकसान की पूर्ति कराया जाए। कहा कि दोनों राज्यो के सम्बन्धित जिले के खनन अधिकारियों के सह पर ही इतना बड़ा राजस्व का नुकसान हुआ है साथ ही स्थानीय स्तर पर जो भी सरक्षण दे रहे है उनकी गोपनीय जांच हो। बताया कि जिला धिकारी ,खनन निदेशक, प्रधान मुख्य वन संरक्षक को पत्र लिखने के बाद जांच हुई और नदी बीच बनी सड़क तोड़ी गयी। लेकिन खनन कर्ता अब गुल्लर घाट में बालू का अबैध खनन में लिप्त हो गए है|

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!