PDR News Sonbhadra

हर खबर की सच्चाईं आप तक

और तब, जब …स्वास्थ्यकर्मियों ने कहा उपर जाओगे या ऊपर…. जाओगे ?जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड L2 की कहानी मरीज की जुबानी

सोनभद्र| दुद्धी तहसील क्षेत्र के अंतर्गत रेनुकूट पिपरी तुर्रा के निवासी राहुल प्रियंका गांधी सेना के जिलाध्यक्ष व पूर्व पीसीसी सदस्य वी के मिश्रा की पिछले कुछ दिनों से तबियत खराब थी तो उन्होंने अपनी कोविड की जांच दो दो बार कराई जिसमें उनकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आयी ,लेकिन उनकी स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो चिकित्सकों की सलाह पर वे वाराणसी के हेरिटेज में अपने चेस्ट का सीटी स्कैन कराया तो रिपोर्ट में सीने में संक्रमण आया| रिपोर्ट लेकर वे रेनुकूट आ गए और एक चिकित्सक के परामर्श के अनुसार दवा आदि कर रहे थे कि एकाएक कल उनका ऑक्सीजन लेबल कम हो गया और वे हिंडाल्को अस्पताल में भर्ती हुए जहाँ चिकित्सकों ने रेफर करने की बात कहीं| देर शाम एम्बुलेंस की सहायता से वी के मिश्रा लोढ़ी अस्पताल आ गए जहां कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बाद उन्हें एल 2 में दाखिला लिया गया और उन्हें बेड ना देकर घंटे भर बिना ऑक्सीजन गैलरी में जमीन में बैठाए रखा गया | उन्होंने आरोप लगाया कि एक तरफ उनका बिना ऑक्सीजन दम घुट रहा था और वह लगातार ऑक्सीजन की गुहार लगा रहे थे ,इतने में दो की संख्या में स्वास्थ्य कर्मियों ने उनसे ओछी कमेंट करते हुए कहा कि ऊपर जाओगे या ऊपर …जाओगे ,इलाज की आस में यहां L2 आये श्री डर गए| उन्होंने परिजनों को इसकी सूचना तत्काल सेलफोन पर दी और इस बर्ताव की जानकारी अपने शुभचिंतकों को दी | काफी मिन्नतों और प्रयास के बाद साढ़े 9 बजे रात्रि पहुँचे मरीज को रात्रि 12 बजे रात्रि उन्हें बेड मिला ,लेकिन वार्ड में ना तो पीने का आरओ पानी का व्यवस्था पाया ,वहीं शौचालय में पानी भी नहीं पाया वहीं आरोप लागया कि बेड के ऊपर पंखा भी नहीं लगा हुआ था | किसी तरह से ऑक्सीजन के सहारे रात गुजारी , और आज शनिवार की सुबह व्हाट अप के माध्यम से पीडीआर न्यूज़ को बताया कि बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल के एल2 में दाखिला लिया, बाहर से बिल्डिंग व मौजूद उपकरणों को देखकर लगा कि दिल्ली , इलाहाबाद ,पीजीआई कहीं नहीं जाना , लेकिन जैसे ही बेड पर आसीन हुआ सारा भ्रम दूर हो गया ,पेशाब घर मे पानी नहीं पीने का पानी नहीं, मरीज़ो को बेड पर मिलने वाली सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं मिला, हाट वेपौर इन्हेलिंग मशीन तक खराब मिली|इंजेक्शन आदि को लगाने के लिए नौसिखहे लगा रहा है जिन्होंने रात्रि में ऐसा इंजेक्शन लगाया कि इंजेक्ट पॉइंट से ब्लीडिंग होने लगी|किसी तरफ से रात गुजारी उसके बाद अनपरा से एक निजी एम्बुलेंस सेवा से वे इलाज हेतु कानपुर निकल लिए|

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!