PDR News Sonbhadra

हर खबर की सच्चाईं आप तक

डीएम साहब!करहिया व बोधाडीह में अंधाधुंध खनन ने जोरकहु के नैसर्गिकता पर लग रहा ग्रहण

(पीडीआर ग्रुप)

विंढमगंज/ सोनभद्र| रेनुकूट वन प्रभाग व दुद्धी तहसील व सर्किल क्षेत्र के करहिया पिछले कुछ दिनों से अवैध खनन का हब बन गया है ,यहां कनहर नदी में ताबड़तोड़ खनन से अब कनहर नदी के ऊपरी हिस्से में स्थित पर्यटन स्थल का बाट जो रहे जोरकहु की नैसर्गिकता अब धीरे धीरे उजाड़ होने लगी है,अब कनहर नदी किनारे यह स्थल बीहड़ो में तब्दील होने को चली है| ऐसा नहीं है कि इस काले खेल की जानकारी जिम्मेदारों को नहीं है ,समय समय पर मीडिया उन भ्रष्ट जिम्मेदारों के अफसरों को भी मामले का संज्ञान देती रहती है लेकिन ये अफसर अपने अधीनस्थों के गठजोड़ को तोड़ने में विफल साबित हो रहे है |करहिया के एक ग्रामीण ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि यहां अवैध खनन का नँगा नाच चौबीसों घंटे चल रहा है और हजार कोशिशों के बाद भी यह रुक नहीं रहा बताया कि इधर कोई अधिकारी इधर आते नही और जो आते है वे चुपचाप सबकुछ देख कर चले जाते है |बताया कि शक्ति घाट कनहर नदी से 13 ट्रैक्टर है चलते है जो बुध बाजार में जहाँ तहाँ 5 से 6 ट्रैक्टर बालू डंप करते है और फिर वहां से टीपर में बालू को लोड कर कोन ,कचनरवा ,विंढमगंज में सप्लाई दे देते है|

बताया कि करहिया पार कर बोधाडीह में कनहर नदी से 18 ट्रैक्टर दिन रात चलते है और ग्रामीण गरीबा के चेरों के घर के पास बालू को डंप करते है और 5 टीपरो के माध्यम से बालू को लोडकर कोन कचनरवा ले जाते है।दिन भर में 25 टिपर बालू यहां से भेजा जाता है जो घिचोरवा वन चौकी के वन कर्मियों के सामने ही फर्राटे भरते हुए गुजरते है।सवाल तो हल्का लेखपाल की भी भूमिका पर उठाई जा रही है जो बड़े आसानी से राजस्व के बड़े अधिकारियों को यहां सब कुछ ठीक ठाक की सूचना भी देते रहते है।
अवैध खनन में लिप्त तीन टिपर तुमिया के एक कुड़वा के और एक कचनरवा के है।
खनन का कार्य नदी में ट्रैक्टर के माध्यम से 5 बजे शाम से शुरू होकर सुबह 10 बजे तक बेखौफ चलता है |
जो बुध बाजार गुलरिया तरफ रोड पर ,रामसुरेश के घर के पास बोधाडीह करहिया सुखमली चेरों के घर के पास व जहां तहां डंप करते है और फिर मौका देख उसकी टीपरो में लोडिंग कर ऊंचे दामों पर तस्करी करते है|पर्यावरण कार्यकर्ता अवधनारायण यादव , उदय शर्मा ,दिनेश यादव करहिया में हो रहे अवैध खनन पर चिंता जताया है उन्होंने कहा है कि जोरकहु की सुंदरता बचाने के लिए नदी के निचले हिस्से में खनन रोकना होगा जिससे यहां की नैसर्गिकता बरकरार रह सके| उन्होंने डीएम का ध्यान आकृष्ट कर करहिया में हो रहे अवैध खनन पर अबिलम्ब रोक लगाए जाने की मांग किया है|
उधर इस मामले में सीओ राम आशीष यादव ने कहा कि खननकर्ताओ को चिन्हित कर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी|

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!