PDR News Sonbhadra

हर खबर की सच्चाईं आप तक

उठान न होने से खरीद भी हो रही प्रभावित

दुद्धी-सोनभद्र- किसानों की समस्या को लेकर सरकार द्वारा कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं ,जिससे उनको किसी तरह की कोई परेशानी न उठाना पड़े। उनकी आय को दुगुना करने, फसल बीमा से लेकर अच्छी नस्ल के बीज उपलब्ध कराने, कई प्रकार की सब्सिडी देने तक का प्रयास सरकार कर रही हैं लेकिन सरकार के नुमाइंदे ही इसको गुड़ गोबर करने का पूर्ण प्रयास कर रहे हैं ।किसान अपना धान जिन क्रय केन्द्रो पर बेच चुके है उनका उठान नही होने से क्रय केन्द्र प्रभारियों के साथ साथ अन्य किसान भाइयों को उठाना पड़ रहा है । धान डम्प पड़े रहने के कारण अन्य किसान अपना धान नही बेच पा रहे हैं। कई किसानों ने अपना धान खरीदी न होने का शिकायत भाजपा नेता डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि से किया तो उन्होंने वास्तविकता का पता लगाया कि किन कारणों से धान खरीदी नही हो पा रही हैं तो मालूम हुआ कि जिन क्रय केन्द्रों पर धान की खरीदारी हुई हैं वहाँ से धान का उठान नही हो पा रहा है जिससे अन्य किसान अपना धान नही बेच पा रहे हैं जिससे किसानों की आय दुगुना करने ,किसानों की समस्या हल करने की मन्शा को सरकार के नुमाइंदे ही विफल करने में लगे हुए हैं जो किसानों के साथ अन्याय है। किसानों द्वारा बेचे गए धान का उठान शीघ्र कराने व उनका पैसा शीघ्र भेजे जाने को लेकर 10 दिन पहले क्रय विक्रय के चेयरमैन रामेश्वर रॉय व डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि ने अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह से मुलाकात की थी और किसानों की समस्या से अवगत कराया था ।ज्ञातव्य हो कि दुद्धीतहसील में स्थित क्रय केन्द्रों की दूरी अधिक होने के कारण मिलर ध्यान नहीं देते है ,कुछ क्रय केंद्र प्रभारी स्वयं गाड़ी की व्यवस्था बनाकर अपने केन्द्रों पर से धान का उठान करवाते हैं लेकिन जो व्यवस्था नही कर पाते है उनका धान ऐसे ही डम्प पड़ा रहता है जिससे उनको अधिकारियों की डांट से भी दो चार होना पड़ता हैं।कुल मिलाकर किसानों के हित में सरकार के नुमाइंदों को चाहिए कि जिन क्रय केन्द्रों पर धान डम्प पड़े हुए हैं उनका उठान शीघ्र हो जिससे अन्य किसानों को भी अपना धान बेचने में परेशानी न उठाना पड़े ।डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि ने जिलाधिकारी का ध्यान इस ओर आकर्षित कराया है कि जनपद में जिन क्रय केन्द्रों पर धान डम्प पड़े हैं उनका उठान अतिशीघ्र कराया जाए।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!