वर्कर्स फ्रंट के पत्र पर हुई कार्यवाही, ऊर्जा विभाग से किया जबाब तलब

अनपरा। अनपरा ‘डी‘ में हुई दुर्धटना की न्यायिक जांच कराने, घायल इंजीनियरों को बेहतर इलाज के लिए एयर एम्बुलेंस से दिल्ली भेजने और अनपरा तापीय परियोजना में औद्योगिक सुरक्षा अधिकारी नियुक्त करने व हर मजदूर व कर्मचारियों को सुरक्षा उपकरण देने की मांगो पर श्रम बंधु व वर्कर्स फ्रंट के प्रदेष अध्यक्ष दिनकर कपूर के मुख्यमंत्री को भेजे पत्र को सीएम कार्यालय ने संज्ञान में लेकर उसे जन सुनवाई पोर्टल पर दर्ज कर ऊर्जा विभाग से जबाब तलब किया है। यह जानकारी आज जारी प्रेस विज्ञप्ति में ठेका मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष तेजधारी गुप्ता ने दी।
मुख्यमंत्री को सम्बोधित पत्रक में दिनकर ने कहा कि ऐष डैम पर बनाई गयी अनपरा ‘डी’ में शुरू से ही निर्माणकर्ता कम्पनी भेल और प्रबंधन पर सवाल उठते रहे है। यहां तक कि इसका उद्घाटन करने आए पूर्व मुख्यमंत्री के सामने ही इकाईयां ट्रिप कर गयी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अनपरा व ओबरा को खतरनाक श्रेणी के उद्योग मानते हुए इनमें हर हाल में मजदूरों व कर्मचारियों के लिए सुरक्षा उपकरण देने को कहा है। ऊंचाहार व उसी समय अनपरा में हुई दुर्धटना के बाद अनपरा पहुंचे मुख्यमंत्री ने खुद मजदूरों को हर हाल में सुरक्षा उपकरण देने की घोषणा ने की थी। डीएम व अपर श्रमायुक्त के यहां हुई वार्ताओं में अनपरा प्रबंधन बायोमैट्रिक मषीन लगाने, समय से वेतन देने, न्यूनतम वेतन व बोनस को सुनिष्चित करने का वादा करता रहा है। लेकिन आज तक मजदूरों,कर्मचारियों,इंजीनियरों को सुरक्षा उपकरण नहीं दिए गए। अनपरा परियोजना में मजदूरों को सुरक्षा उपकरण सुनिष्चित कराने के लिए एक अदद सुरक्षा अधिकारी भी नहीं है। इस परिस्थिति में आए दिन दुर्धटनाएं हो रही है, मजदूर कर्मचारी घायल हो रहे है, उनकी अकाल मृत्यु हो रही है। हाल ही में कार्यस्थल पर हुई दुर्धटना में इलेक्ट्रिषियन व ठेका मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष तेजधारी गुप्ता बाल-बाल बचे। अनपरा में तो हालत इतनी बुरी हो गई है कि अब ठेका मजदूरों की जगह गैंगपास बनवा कर अनुभवहीन बिना गेटपास के सप्लाई मजदूरों से काम कराया जा रहा है। प्रबंधन की यह गैरकानूनी कार्यवाही किसी दिन भी बड़ी दुर्धटना का कारण बनेगी। पत्रक में सीएम से अनुरोध किया गया है कि विभागीय जांच में सच सामने की जगह महज लीपा पोती होती है इसलिए इस घटना की न्यायिक जांच करायी जाए जिससे सच सामने आये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *